मप्र की पूजा और भूमिका का इंडियन कैम्प में शानदार प्रदर्शन

देवास। 18 वीं एशियन गेम्स 18 अगस्त से 2 सितंबर तक जकार्ता (इंडोनेशिया) में होने जा रही है। मप्र पेंचक सिलाट एसोसिएशन के महासचिव अभय श्रीवास व अध्यक्ष अबरार अहमद शेख ने बताया कि पहली बार पेंचक सिलाट मार्शल आर्ट को एशियन गेम्स 2018 में शामिल किया गया। इंडियन पेंचक सिलाट फेडरेशन की ओर से व स्पोर्टस आर्थोरिटी ऑफ इंडिया की देख-रेख ऑल इंडिया से चयनित पेंचक सिलाट के खिलाडियों को उच्च प्रशिक्षण हेतु चयन कर जो 16 व 17 जून को शेर-ए-कश्मीर इंन्डोर स्टेडियम श्रीनगर में किया गया। जिसमें प्रदेश से देवास जिले की खिलाड़ी पूजा खाटवा व भूमिका जैन को रेघु इवेंट्स (सैनी) में एशियन गेम्स के लिए राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर के लिए हुआ। दोनो खिलाड़ी श्रीनगर में इंडोनेशियाई कोच के सानिध्य में 1 जुलाई से 15 अगस्त तक प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे है। पूजा खाटवा पिछले साल अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता सिंगापुर में अपने देश का प्रतिनिधित्व कर रजत पदक प्राप्त कर चुकी है और राष्ट्रीय लेव पर भी अनेक पदक अपने नाम कर अपने राज्य व जिले का नाम गौरवांवित कर चुकी है। भूमिका जैन ने भी राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेकर स्वर्ण व रजत पदक प्राप्त कर देश का नाम गौरवांवित किया है और आज दोनों खिलाड़ी इंडिया के टॉप थ्री में अपनी जगह बना ली है। पूजा और भूमिका का कहना है कि यह सफलता का क्रेडिट अपने कोच अभय श्रीवास व माता-पिता को दिया, जिन्होंने आगे बढने के लिए हमेशा प्रोत्साहित किया। खिलाडियों ने कठोर परिश्रम कर अपने कोच के सानिध्य में प्रशिक्षण प्राप्त किया और आज श्रीनगर (जम्मूकश्मीर) में चल रहे एशियन गेम्स के राष्ट्रीय पेंचक सिलाट प्रशिक्षण शिविर में इंडोनेशिया से आए दो कोचों द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे है। पूजा व भूमिका दोना का बस एक ही सपना है कि वह देश के पदक जीतकर लाए।

Leave a Comment